Scientists Experimenting COVID-19 Virus At Wuhan Lab Were Bitten By Bats And Spattered With Blood

पिछले एक साल से अधिक समय से मुख्यधारा की मीडिया अटलांटिक काउंसिल द्वारा संचालित फैक्ट-चेकर्स के साथ मिलकर ग्रेटगेमइंडिया  के पीछे पड़ी रही क्यूंकि ग्रेटगेमइंडिया ने ही खुलासा किया था कि COVID-19 वायरस एक जैव हथियार है . और अब हम उस महत्वपूर्ण बिंदु पर पहुंच गए हैं जहां वे अब अपने झूठे दंतकथा को कायम नहीं रख सकते। हम यहां नए सबूत दिखायेंगे  कि वैज्ञानिक कैसे COVID-19 वायरस पर प्रयोग कर रहे हैं और वुहान लैब में परीक्षण के दौरान कैसे चमगादड़ों ने वैज्ञानिकों को  काटकर लहूलुहान कर दिया था.

वुहान लैब के वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्हें चमगादड़ों ने काट लिया था और वह  खून से लथपथ हो गए थे।

चीनी राज्य द्वारा संचालित टीवी ने एक फुटेज प्रसारित किया (नीचे पूर्ण प्रसारण देखें) जिसमें वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के शोधकर्ताओं को व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों के उपयोग की अवहेलना करते हुए चमगादड़ों को संभालते हुए दिखाया गया है|

चीन में पहली बार 29 दिसंबर, 2017 को प्रसारित किया गया फुटेज, महामारी शुरू होने से बहुत पहले एक व्यक्ति के शरीर के अंग पर काटने की वजह से  वह हिस्सा बुरी तरह से सूज गया था।

विडियो में 4:45 से 4:56 तक एक वैज्ञानिक को अपने हाथों से चमगादड़ को  पकड़े देखा जा सकता है। 7:44 से 7:50 तक टीम के सदस्यों को छोटी आस्तीन और शॉर्ट्स पहने हुए अत्यधिक संक्रामक चमगादड़ का मल इकठ्ठा करते देखा जा सकता है| और इस दौरान उन्होंने  दस्ताने के अलावा और कोई भी व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण(PPE) नहीं पहने हुए है|

वुहान लैब में COVID-19 वायरस का प्रयोग करने वाले वैज्ञानिकों को चमगादड़ ने काट लिया और खून से लथपथ हो गए
वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के शोधकर्ता नाइट्राइल दस्ताने के साथ चमगादड़ों को संभाल रहे हैं। (सीसीटीवी स्क्रीनशॉट)

नरेटर को यह कहते सुना जा सकता है कि भले ही वैज्ञानिकों ने दस्ताने पहने हों, लेकिन चमगादड़ के काटने से घायल होने का जोखिम “अभी भी मौजूद है।” इस बीच, वायरस विशेषज्ञ Cui Jie बताते हैं (8:47 से 8:50 तक) कैसे चमगादड़ का काटा जाना “सुई लगने जैसा था”।

वुहान लैब में COVID-19 वायरस का प्रयोग करने वाले वैज्ञानिकों को चमगादड़ ने काट लिया और खून से लथपथ हो गए

 

वायरस विशेषज्ञ कुई जी बताते हैं कि कैसे चमगादड़ का काटा जाना “सुई लगने जैसा था।”

उन्होंने कहा कि चमगादड़ के नुकीले दांत उनके दस्ताने में घुस गए , जो संभवत: नाइट्राइल था। उन्होंने इस घटना का वर्णन “सुई लगने जैसे अनुभव जैसा बताया “। वीडियो में तब एक व्यक्ति के अंग को दिखाया जाता है जिसमें चमगादड़ के काटने की वजह से सूजन दिखाई दे रही है ।

वुहान लैब में COVID-19 वायरस का प्रयोग करने वाले वैज्ञानिकों को चमगादड़ ने काट लिया और खून से लथपथ हो गए

 

चमगादड़ के  काटने के बाद टीम के सदस्य के अंग में सूजन। (सीसीटीवी स्क्रीनशॉट)

पिछले साल GreatGameIndia ने रिपोर्ट किया था कि कैसे WHCDC (वुहान हाइजीन इमरजेंसी रिस्पांस टीम) के शोधकर्ताओं में से एक ने बताया कि कैसे चमगादड़ का खून उसकी त्वचा पर लगने के बाद उसने  दो सप्ताह के लिए खुद को क्वारंटाइन कर लिया था। उसी शख्स ने चमगादड़ के पेशाब उसके शरीर पर गिरने के बाद खुद को क्वारंटाइन कर लिया था।

उन्होंने एक चमगादड़ से एक जीवित टिक की खोज का भी उल्लेख किया है – परजीवी जो एक मेजबान जानवर के रक्त के माध्यम से संक्रमण को पारित करने की क्षमता के लिए जाने जाते हैं।

वुहान लैब में COVID-19 वायरस का प्रयोग करने वाले वैज्ञानिकों को चमगादड़ ने काट लिया और खून से लथपथ हो गए

 

WHCDC भी यूनियन अस्पताल से सटा हुआ था जहाँ इस महामारी के दौरान डॉक्टरों का पहला समूह संक्रमित हुआ था।

विवादास्पद चीनी वुहान लैब को गुप्त वायरस प्रयोग करने के लिए बैट केज  पेटेंट  की मंजूरी  COVID-19 के प्रकोप से कुछ महीने पहले ही दी गयी थी । पेटेंट में  क्रॉस-प्रजाति संचरण सहित SARS-Cov के संचरण विधियों पर भी विचार-विमर्श भी शामिल था ।

चीनी अधिकारियों को टॉप सीक्रेट वुहान लैब से बैटवूमन शी झेंगली के 300 अध्ययन हटाने  के लिए कहा गया था जोकि COVID-19 की उत्पत्ति से जुड़ा हुआ है। जानवरों से मनुष्यों में होने वाली कई बीमारियों सहित 300 से अधिक अध्ययनों का विवरण अब उपलब्ध नहीं है।

पांच साल पहले, इतालवी राज्य के स्वामित्व वाली मीडिया कंपनी, राय – रेडियोटेलीविज़न इटालियाना, नें  यह भी उजागर किया था कि कैसे चीनी इंसानों को संक्रमित करने के लिए कोरोनावायरस पर प्रयोग कर रहे थे.

वीडियो, जिसे नवंबर, 2015 में प्रसारित किया गया था, इसमें दिखाया गया था कि चीनी वैज्ञानिक चमगादड़ और चूहों से प्राप्त  एक सार्स से जुड़े वायरस पर जैविक प्रयोग कर रहे थे  जिसे कोरोनावायरस माना जाता है,

चीन लंबे समय से गुप्त फ्रेंकस्टीन-शैली का संचालन कर रहा है जैसे मानव-पशु संकर प्रयोग सुपर वायरस, मानव-बंदर hybrid बनाना, बंदरों और सूअरों पर मानव सिर प्रत्यारोपण, जीन-संपादन बच्चे, सुपर सैनिक आदि।

इनमें से अधिकांश प्रयोग पश्चिमी देशों से निर्यात किए जाते हैं क्योंकि भारी आलोचना के कारण पश्चिम में उन्हें बंद कर दिया गया था।

पूरा चीनी प्रसारण नीचे देखें:

 

Read this article in English on GreatGameIndia.

टेलीग्रा पर हमसे जुड़ें

लोकप्रिय लेख